fbpx
February 21, 2024
postpone neet ug

postpone neet ug 2022

1 0
1 0
Read Time:9 Minute, 9 Second

NEET -UG :- नीट यूजी के परीक्षार्थी सरकार से तैयारी के लिए अतिरिक्त दिनों की मांग कर रहे. इसके लिए परीक्षार्थी लगातार सोशल मीडिया पर अपनी मांग रख रहे हैं और यह वजह बताई जा रही है-

देश में अंडर ग्रेजुएट स्तर पर मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए होने वाली सबसे बड़ी परीक्षा नीट यूजी एक बार फिर से विवादों में है. राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET UG) की परीक्षा 17 जुलाई को आयोजित होनी है.

(Want to read in another language, Kindly change the site language from the top right corner.)

इसमें अभी लगभग एक महीना ही बाकी है. परीक्षा की तिथि से ठीक पहले neet-ug के परीक्षार्थियों ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री और परीक्षा आयोजित कराने वाली एजेंसी यानी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को पत्र लिखकर 40 दिन का अतिरिक्त समय मांगा है.

इसके पीछे परीक्षार्थियों ने कहा कि तर्क दिए हैं आइए जानते हैं कि क्या है वे तर्क जिसके वजह से परीक्षार्थी कर रहे हैं लगातार परीक्षा तिथि को आगे बढ़ाने की मांग.


NTA और शिक्षा मंत्री को लिखे गए पत्र में परीक्षार्थियों ने कहा है कि गत वर्ष 2021 में राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा 12 सितंबर 2021 को आयोजित की गई थी. इसके परिणाम 1 नवंबर 2021 को घोषित किए गए थे.

इसमें सर्वोच्च न्यायालय में लंबित ओबीसी एवं ईडब्ल्यूएस आरक्षण मुकदमे के चलते परीक्षा की काउंसलिंग 6 महीनों की असामान्य अवधि तक चली जो कि सामान्य से दो से 3 महीने की अवधि में पूरी कर ली जाती है.

इसके अलावा हर वर्ष राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा के परीक्षार्थियों को 5 माह पूर्व में परीक्षा की तिथि एवं अन्य जानकारियों के बारे में सूचित कर दिया जाता था. लेकिन इस वर्ष परीक्षार्थियों को केवल परीक्षा के 3 महीने पूर्व सूचित किया गया.

इस वर्ष राष्ट्रीय पात्रता से प्रवेश परीक्षा की अधिसूचना 6 अप्रैल 2022 को जारी की गई जो परीक्षा तिथि से केवल 100 दिन के अंतराल पर है. इसने अधिकांश परीक्षार्थियों को मानसिक अवसाद में डाल दिया है.


इस वर्ष की राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा 17 जुलाई 2022 को तय की गई है और गत 2021 वर्ष की काउंसलिंग अप्रैल के अंतिम सप्ताह में पूर्ण हो गई है. कई राज्यों में राज्य स्तरीय काउंसलिंग अभी अधिसूचना होने के उपरांत चल रही थी इस क्रम में उत्तर प्रदेश राज्य में स्ट्रे वैकेंसी राउंड 26 अप्रैल 2022 को पूरा हुआ.

नीट यूजी के परीक्षार्थी लगातार अपनी मांग सोशल मीडिया पर TWITTER के माध्यम से रख रहे हैं.

हर वर्ष neet-ug के छात्र को काउंसलिंग की समाप्ति से अगले सत्र की परीक्षा तिथि के बीच 6 से 8 महीने की अवधि प्रदान की जाती है जिससे जिन छात्रों का चयन ना हो पाया हो उन्हें दोबारा तैयारी करने का पर्याप्त समय मिले.

लेकिन इस वर्ष परीक्षार्थी को केवल 3 माह का समय दिया गया है. तैयारी के समय में एकाएक असामान्य कटौती हो जाने से काउंसलिंग में भाग लेने वाले परीक्षार्थियों में भय अवसाद एवं चिंता की परिस्थिति उत्पन्न हो चुकी है.

नीट यूजी के परीक्षार्थी यह कर रहे मांग-

हाल ही में राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग द्वारा जारी की गई आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार सत्र 2021-22 की शुरुआत 14 फरवरी 2022 से हुई है.

इसी के साथ किस सत्र के पहले प्रोफेशनल की अवधि 13 माह से घटाकर 11 माह कर दी गई है. आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार 2022 का नया सत्र 2023 से पहले शुरू नहीं किया जा सकता.

17 जुलाई 2022 को राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा UG के संपन्न होने के पश्चात भी छात्रों को छह माह की असामान्य अवधि तक परीक्षार्थियों को नए सत्र के शुरू होने का इंतजार करना पड़ेगा. सामान्य 40 दिनों के लिए परीक्षा तिथि का विस्तार किसी प्रकार से प्रवेश परीक्षा के लिए क्षति कारक नहीं होगा एवं नया सत्र भी समय पर शुरू किया जा सकेगा.

क्या है परीक्षार्थियों की समस्या-

परीक्षार्थियों का तर्क है कि कई ऐसे छात्र हैं जो गणित और जीव विज्ञान का साथ अध्ययन करते हैं. यह ऐसे छात्र है जो JEE और neet-ug समेत अन्य परीक्षाएं भी देते हैं. इन दो महत्वपूर्ण परीक्षाओं की तिथि अत्यधिक पास होने से छात्र चिंतित हैं.

जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम यानी JEE की परीक्षा नीट यूजी के ठीक 3 दिनों के अंतराल पर है जिससे मैथ्स जैसे कठिन विषय की प्रतियोगिता परीक्षा के स्तर पर तैयारी कर पाना बहुत कठिन है. वही सेंट्रल यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट 2022 की परीक्षा भी जुलाई के दूसरे सप्ताह में होने तय की गई है .

इंजीनियरिंग एग्रीकल्चर एंड मेडिकल कॉमन एंट्रेंस टेस्ट जो आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के राज्यों में आयोजित की जाती है वह 14, 15,18,19 वह 20 जुलाई 2022 को निर्धारित की गई है. सारी महत्वपूर्ण परीक्षाओं का नीट यूजी 2022 के इतने पास होना अलग-अलग राज्यों के परीक्षार्थियों को चिंतित कर रहा है.

इस सब बातों पर तर्क देते हुए neet-ug के परीक्षार्थियों ने NTA को पत्र में लिखा है कि आप परीक्षार्थियों के हित को ध्यान में रख कर शिक्षा मंत्री को छात्रों की परेशानियों से अवगत कराएं. और न्यूनतम 40 दिनों के लिए नीट यूजी 2022 को स्थगित कर अगस्त अंत या सितंबर शुरू में कराने पर विचार किया जाए जिससे सभी परीक्षार्थियों को बेहतर रूप से तैयारी करने का समय मिले.


यह छात्र अपनी बात सोशल मीडिया पर कई तरह से चलाए जा रहे हैं HASHTAGS के माध्यम से भी व्यक्त कर रहे हैं.
ट्विटर पर विद्यार्थियों द्वारा #ModijiDeferNeetUg व #ModijiPostponeNeetUg जैसे हैशटैग लगातार महीने भर से चलाए जा रहे हैं.


अगर नीट यूजी के अब तक के इतिहास पर चर्चा की जाए तो नीट यूजी देश की सबसे विवादास्पद परीक्षा बनी रही है.
गत वर्ष भी neet-ug को स्थगित किया गया था इसके अलावा गत वर्ष neet-ug के पेपर लीक का मामला भी का काफी समय तक चर्चा में रहा.


सरकार परीक्षार्थियों को समय देती है या नहीं इसका फैसला तो पूरी तरह सरकार के हाथ में है.
इनसाइड प्रेस इंडिया इन विद्यार्थियों के तर्क को उचित मानता है. हमारी सरकार से यह विनती है कि विद्यार्थियों की जायज मांगों पर जल्द से जल्द सही और ठोस कदम उठाए जाएं.

Subscribe, like, share, and comment on your suggestion.

inside press india
inside press india
Happy
Happy
100 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *