fbpx
May 22, 2024
MOVIE REVIEW
2 0
2 0
Read Time:8 Minute, 46 Second

Rating: 3 out of 5.

IPI RATING 3.0/5

VERDICT- Watch only for Action

(Want to read in English?

Kindly change the site language from top right corner)

What is the film about

केजीएफ चैप्टर 2 आज सिनेमाघरों में रिलीज हुई दोस्तों, और इनसाइड प्रेस इंडिया आपके लिए लेकर आया है एक रिव्यू आर्टिकल तो आइए शुरू करते हैं और जानते हैं कैसी है यह रॉकिंग स्टार यश की फिल्म केजीएफ चैप्टर 2.
KGF: चैप्टर टू दोस्तों वहीं से शुरू होता है जहां पर पहला खत्म हुआ था. जैसा कि पार्ट 1st के अंत में रॉकी को केजीएफ का साम्राज्य मिल जाता है. लेकिन वह मिलने के बाद भी रॉकी को ऐसा आभास होता है कि अभी भी उसके पास पाने के लिए बहुत कुछ बाकी है. इसके बाद अधीरा के रूप में उसके सामने एक नई चुनौती आती है और रॉकी अधीरा के साथ युद्ध करने के लिए KGF को छोड़ता है.
जब ऐसा होने लगता है कि अधीरा के साथ लड़ाई में रॉकी को जीत मिल रही होती है, तो रॉकी का साथ देने के लिए एक बड़ी ताकत सामने आती है. यह एक राजनीतिक मामला बन जाता है जिसमें प्रधानमंत्री सीधे तौर पर शामिल होते हैं. इन सब में रीना ( श्रीनिधि शेट्टी) शामिल है? रॉकी रीना, अधीरा और प्रधानमंत्री को कैसे संभालता है यही इस फिल्म की मेन कहानी है. इसको जानने के लिए आपको देखनी होगी यह फिल्म क्योंकि हम नहीं चाहते कि हमारे द्वारा बताई गई पूरी स्टोरी से आपका मजा खराब हो जाए.

Performance

अगर बात की जाए यश की, रॉकिंग स्टार यश अपनी इस मूवी में अपने रॉकिंग और स्वैग रवैए से बहुत ही शानदार तरह से इस फिल्म में अपनी भूमिका को दोहराते हैं. सूट और दाढ़ी के साथ उनकी स्टाइलिंग बहुत ही शानदार की गई है. अगर बात यश की एक्टिंग की की जाए तो शायद ही कोई उनकी बराबरी कर सकता है. फिल्म में उनका हर एक इमोशन और स्टंट बहुत लाजवाब अभिनय किया हुआ है. इस फिल्म को देखने का एक बड़ा कारण हो सकता है कि आप यश की कला को देखने के लिए भी यह फिल्म जरूर देख सकते हैं.
बात अगर अब फिल्म में उनकी सह कलाकार श्रीनिधि शेट्टी के बारे में की जाए. श्रीनिधि शेट्टी फिल्म में एक सहायक की भूमिका में हैं. फिल्म के आखिरी में कुछ इस तरह के मोड़ आते हैं जहां पर श्रीनिधि शेट्टी एक बड़ा रोल प्ले करती है.

Anlysis

प्रशांत नील जो कि इस फिल्म के डायरेक्टर हैं जिन्होंने केजीएफ पार्ट वन से पूरे देश भर में प्रसिद्धि प्राप्त की वे अपने इस मास्टर पीस के साथ दुबारा वापस आए हैं. केजीएफ चैप्टर 2 अपनी फिल्म बॉडी और कहानी के साथ लगभग लगभग चैप्टर वन के समानार्थी है.
केजीएफ चैप्टर वन से लेकर 2 की अगर बात की जाए तो यह रॉकी को एक साधारण आदमी से एक लीजेंड बनने तक की कहानी है.
अगर इस फिल्म का पहला पार्ट रॉकी के लिए एक साधारण इंसान से एक बड़ा आदमी बनने की कहानी है तो इस फिल्म का दूसरा पार्ट रॉकी के बड़े आदमी से लेकर एक लीजेंड बनने की कहानी दर्शाई गई है.
KGF 2 रॉकी के उत्थान के बारे में है.फिल्म में रॉकी आगे बढ़ने के लिए कई रास्ते अपनाता है लेकिन अधीरा उसे एक बड़ी चुनौती में डाल देता है. कहानी की शुरुआत से ही अधीरा, रॉकी पर हावी रहता है .
अगर केजीएफ चैप्टर 2 फिल्म में कोई कमी की बात की जाए तो इस फिल्म की सबसे बड़ी कमी है ‘इमोशंस’. इस फिल्म में किसी भी तरह से भावनात्मक गहराई नहीं है. इस फिल्म में सब कुछ सिर्फ सतही रूप से दर्शाया गया है. कुछ जगह पर जिन संबंधों को बनाने का प्रयास किया गया है वह बिल्कुल भी सही माने जाने योग्य नहीं है. यह फिल्म अपने अंदर बहुत एक्शन और एक जबरदस्त ड्रामा समेटे हुए तो है लेकिन जब बात इस पर आती है कि आप किसी फिल्म से किस तरह कनेक्ट कर पाते हैं तो उसमें यह फिल्म शायद खरी नहीं उतरती है.

इसके साथ ही जब हम केजीएफ की दुनिया में दिलचस्पी रखते हैं, तो फिल्म में होने वाली घटनाएं उतनी अधिक प्रभावी नहीं है. रॉकी के दोबारा स्ट्राइक करने से पहले फर्स्ट हाफ का एक बड़ा हिस्सा इस तरह से डील करता है.
इस फिल्म के दूसरे हाफ में कुछ नयापन आपको नहीं देखने मिलेगा. फिल्म के फर्स्ट हाफ में जो चीजें स्टार्ट होती है सिर्फ उन्हीं को आगे तक ले जाया जा रहा है. इस फिल्म में जो पॉलिटिकल ड्रामा बीच में दिखाया गया है वह हमारे हिसाब से फिट नहीं बैठता. लेकिन सेकंड हाफ में यह पॉलिटिकल ड्रामा ही इस फिल्म का मुख्य आधार बन जाता है.

इस फिल्म में रॉकी के एक लीजेंड बनने से पहले सिर्फ एक राजनीतिक ताकत ही उसके अंतिम बाधा बनती है. दर्शकों के मन में रॉकी की एक बड़ी छवि को बनाने के लिए निर्देशक ने रोकी को कई तरह से श्रेष्ठ दिखाने की कोशिश की है. लेकिन कुछ जगहों पर यह फिल्म ओवरडोज जोन में चली जाती है.
केजीएफ चैप्टर 2 बिल्कुल केजीएफ चैप्टर वन की ही तरह है अगर इसमें थोड़ा बदलाव है तो वह अधीरा की एंट्री के बाद आता है. इमोशन की अगर बात की जाए तो जिस तरह निर्देशक ने इस फिल्म के प्रथम पार्ट में जो इमोशन का लाजवाब कॉन्बिनेशन दिखाया था वह पार्ट 2 में कहीं खोया हुआ नजर आता है.
केजीएफ चैप्टर 2 एक एक्शन ड्रामा मूवी है. अगर आपने केजीएफ पार्ट वन देखा होगा तो आप इस पार्टी कमियां जरूर देख पाएंगे. लेकिन अगर आपको केजीएफ चैप्टर 2 से बहुत ज्यादा अधिक आशाएं हैं तो शायद कहीं ना कहीं यह फिल्म आपको थोड़ा बहुत निराश करती नजर आ सकती है.

अब बात करते हैं कि क्या किया जाए केजीएफ चैप्टर 2 को लेकर इससे फिल्म को देखी जाए या नहीं.
रॉकिंग स्टार यश की एक्टिंग को देखने के लिए इस फिल्म को जरूर देखा जाए अगर आप एक्शन मूवी के शौकीन हैं तभी आप इस फिल्म को देख सकते हैं.
लेकिन अगर आप यह सोच कर जाते हैं कि केजीएफ पार्ट वन कि जितनी या उससे कहीं अधिक यह मूवी आपको रोमांचित करेगी शायद ऐसा नहीं है.
इनसाइड प्रेस इंडिया KGF CHAPTER 2 को 3.0/5 रेटिंग देगी. रॉकी और फिल्म के एक्शन के ऊपर हमारी आधारित यह रेटिंग है.
और इस मूवी पर हमारा VERDICT – Watch Only for Action
अगर आप मूवी देखने जाते हैं तो वापस आकर हमें जरूर बताएं कि आपको यह मूवी कैसी लगी.

cropped Header Image IPI 1
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *